Latest :
सेक्टर-12 खेल परिसर में चल रहे तीन दिवसीय सांसद खेल महोत्सव में बास्केटबॉल गेम की हुई शुरुआतआजादी के अमृत महोत्सव की श्रृंखला में किया गया सांसद खेल महोत्सव का आयोजन बड़खल की विधायिका सीमा त्रिखा ने किया स्वच्छता अभियान का शुभारंभ मंडल स्तरीय कला एवं सांस्कृतिक प्रतियोगिता के आवेदन का 30 मई अंतिम दिन : डीसी जितेन्द्र यादव खेलो इंडिया मशाल 23 मई को पहुंचेगी फरीदाबाद, राहगीरी के जरिये होगा भव्य स्वागत 2 जोडी चांदी पाजेब सहित दो अलग-अलग चोरी के मामलों में दो आरोपियों गिरफ्तार, डॉग स्क्वायड टीम और डीएमआरसी टीम ने फरीदाबाद में सभी मेट्रो स्टेशन पर चलाया सर्च अभियानआजादी के गुमनाम नायकों को समर्पित रहा नाटक 'दास्तान- ए-रोहनात'थाना बीपीटीपी सेक्टर-75 एरिया में दिल्ली के मीठापुर की 27 वर्षीय युवती ने लगाई फ़ासीचोरी के मुक़दमे में वंचित चल रहे दो आरोपी सोने के रानी हार सहित गिरफ्तार
National

लॉक डाउन पर उठने लगे सवाल, भारत में संक्रमित मरीजों की संख्या लाख पार, पढ़ें कितने हुए संक्रमित, कितने ठीक, कितने उपचाराधीन , क्या पाया और क्या खोया

May 19, 2020 11:42 AM

Thakur Suraj Bhan (Pinaka Times), Faridabad, 19th May 2020 : पूरी दुनिया जहां कोविड-19 यानी कोरोना से जूझ रही है वहीं भारत भी इससे अछूता नहीं रहा है। भारत में कोरोना मरीजों की संख्या 1,01261 हो गई है। ऐसे में आम जनता के अंदर लॉक डाउन को लेकर सवाल खड़े हो गए हैं ?

आपको बता दें पूरी दुनिया में संक्रमित मरीजों की संख्या 48,94,233 है। जिसमें 3,20,181 की मृत्यु हो चुकी है।

क्या है मृत्यु दर

पूरी दुनिया में कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या 48,94,233 है। जिसमें अब तक 19,08,065 मरीज ठीक हो चुके हैं। वही 3,20,181 हो की मौत हो चुकी है। अकेले अमेरिका की बात करें तो वहां पर कुल मरीजों की संख्या 15,50,294 है। जिसमें 3,56,383 मरीज अब तक ठीक हो चुके हैं। जबकि 91,981 व्यक्तियों की मौत हो चुकी है। संक्रमण के मामले में जहां अमेरिका पहले नंबर पर है वहीं भारत अब 1,01261 संक्रमित मरीजों के साथ 11 वें पायदान पर है। भारत में कुल कोरोना से संक्रमित मरीजों संख्या की 1,01261 है। 39,233 ठीक हुए वही 3,164 की मौत हो चुकी है, 58,864 उपचाराधीन है। इस प्रकार भारत में मृत्यु दर लगभग 3 प्रतिशत है।

लॉक डाउन पर खड़े हुए सवाल क्या पाया और क्या खोया ?

मरीजों की संख्या लाख पहुंचते ही लोगों के जहन में यह सवाल खड़ा हो गया है कि आखिर 55 दिन के लॉक डाउन में हमने क्या पाया और क्या खोया ? लोगों ने जहां लॉक डाउन के फायदे गिनाए वही कुछ लोग इसका नुकसान भी बता रहे हैं।

लॉक डाउन पर आमजन का कहना है कि

फायदा नंबर 1 - कोरोना ने आदमी को कम जरूरत के हिसाब से जीना सिखा दिया है।

फायदा नंबर 2 -  55 दिन घर में बैठे रहने के कारण लोगों के दिमाग में यह बात घर कर गई है कि आखिर कोरोना से कैसे लड़ना है और इसके बचाव के उपाय क्या है।

फायदा नंबर 3 -  जो संख्या अभी भारत में लाख पर पहुंची है यदि लॉक डाउन ना होता तो यह संख्या कहीं अधिक होती।

फायदा नंबर 4 - लॉक डाउन के कारण आम आदमी को यह समझ में आ गया है कि प्रकृति से आवश्यकता से अधिक छेड़छाड़ नहीं करनी चाहिए।

फायदा नंबर 5 - प्रदूषण में रिकॉर्ड तोड़ कमी आई है। जिसके चलते नदिया, नहरे व वायु स्वच्छ और साफ हो गई है।

लॉक डाउन के नुकसान

नुकसान नंबर 1 - लॉक डाउन का असर सबसे ज्यादा भारत की अर्थव्यवस्था पर पड़ा है। अर्थव्यवस्था हासिए पर आ गई  है।

नुकसान नंबर 2 - शुरुआती दौर में लॉक डाउन ने जो ध्रुवीकरण किया है। उसे लोगों के दिमाग से निकाल पाना मुश्किल हो जाएगा।

नुकसान नंबर 3 - मध्यमवर्गीय परिवार भविष्य को लेकर काफी चिंतित है। आने वाले समय में व्यवसाय और नौकरियों का अकाल पड़ने वाला है।

नुकसान नंबर 4 - होटल इंडस्ट्री आने वाले 1 साल तक नुकसान में रहने वाली है या यूं कहने की सभी व्यवसाय अब केवल जरूरतों के लिए ही चल पाए तो भी गनीमत वाली बात है।

इसके अतिरिक्त और बहुत फायदे और नुक्सान हुए है।

आमजन की माने तो लॉक डाउन से फायदे तो कम हुए लेकिन आने वाले समय में नुकसान बहुत होने वाला है। जिस कारण लोगों में अब यह बात उठने लगी है कि आखिर लॉक डाउन से हमें क्या फायदा हुआ?

सभी पाठकों से अनुरोध है आपके मतानुसार लॉक डाउन से क्या फायदा हुआ या नुक्सान अपना मत प्रकट करें

               

 

 
Have something to say? Post your comment
More National

एमएचआरडी मंत्रालय का घेराव करते समय NSUI के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीरज कुंदन समेत कई छात्रनेताओं को दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार

NSUI ने ऑनलाइन एडमिशन पोर्टल लांच किया है

UGC को परीक्षा पर पुनर्विचार करने का निर्देश, NSUI का मिला समर्थन

इंदौरः कांग्रेस ने की भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय पर एनएसए लगाने की मांग

अब क्रैश प्लेन का डेटा कार्ड उजागर करेगा उस कोहरे वाली रात का सच

सागर के ढाना में चाइम्स एविएशन का प्लेन क्रैश, मुंबई के ट्रेनी पायलट और ट्रेनर की मौत

दिल्ली विधानसभा चुनावः भाजपा का प्रचार अभियान आज से, उतरेंगे 49 रथ

नोटबंदी में तीन सौ करोड़ की हेराफेरी के आरोपी ने पत्नी-बच्चे सहित खुद को गोली मारी, मौत

यहां रानी से हार गए थे शहंशाह अकबर, मां नर्मदा की कृपा से जन्मी थीं रानी रूपमति

मालकिन ने फांसी लगाई, दो दिन शव के साथ रहे डॉगी, अस्पताल भी गए

Grievance Redressal Disclaimer Complaint
Pinaka Times
Email : editor@pinakatimes.com
Email : gropinakatimes@gmail.com
Copyright © 2016 Pinaka Times All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech