Latest :
सेक्टर-12 खेल परिसर में चल रहे तीन दिवसीय सांसद खेल महोत्सव में बास्केटबॉल गेम की हुई शुरुआतआजादी के अमृत महोत्सव की श्रृंखला में किया गया सांसद खेल महोत्सव का आयोजन बड़खल की विधायिका सीमा त्रिखा ने किया स्वच्छता अभियान का शुभारंभ मंडल स्तरीय कला एवं सांस्कृतिक प्रतियोगिता के आवेदन का 30 मई अंतिम दिन : डीसी जितेन्द्र यादव खेलो इंडिया मशाल 23 मई को पहुंचेगी फरीदाबाद, राहगीरी के जरिये होगा भव्य स्वागत 2 जोडी चांदी पाजेब सहित दो अलग-अलग चोरी के मामलों में दो आरोपियों गिरफ्तार, डॉग स्क्वायड टीम और डीएमआरसी टीम ने फरीदाबाद में सभी मेट्रो स्टेशन पर चलाया सर्च अभियानआजादी के गुमनाम नायकों को समर्पित रहा नाटक 'दास्तान- ए-रोहनात'थाना बीपीटीपी सेक्टर-75 एरिया में दिल्ली के मीठापुर की 27 वर्षीय युवती ने लगाई फ़ासीचोरी के मुक़दमे में वंचित चल रहे दो आरोपी सोने के रानी हार सहित गिरफ्तार
Chandigarh

15 जिलों के 900 चावल मिलों में कम मिला धान, मालिकों को देंगे कारण बताओ नोटिस

January 08, 2020 12:04 PM

Pinaka times, Faridabad; 08th january : प्रदेश के 15 जिलों के 1305 चावल मिलों में से करीब 900 चावल मिलों में धान कम मिला है। खाद्य एवं आपूर्ति विभाग अब इन चावल मिलों को कारण बताओ नोटिस जारी करेगा, ताकि कम धान मिलने के कारणों का पता लगाया जा सके। इसके लिए चावल मिल मालिकों को निर्धारित समय सीमा में जवाब देना होगा।

यदि जवाब नहीं दिया गया तो विभाग कार्रवाई करेगा। यही नहीं विभाग के जिन कर्मचारियों, अधिकारियों ने इस मामले में कोताही बरती है तो उनके खिलाफ भी विभाग कार्रवाई करेगा। फिलहाल सबसे पहले विभाग मिल मालिकों के जवाब मांगेगा, ताकि असलियत का पता चल सके। गौरतलब है कि बीते दिनों विभाग ने प्रदेश के 15 जिलों के इन चावल मिलों में फिजिकल वेरीफिकेशन कराने का निर्णय लिया था।

हरियाणा खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव पीके दास ने बताया कि 1305 चावल मिलों में से करीब 900 चावल मिल ऐसे हैं जिनमें कम धान मिला है। 40 हजार टन से अधिक धान कम मिलने पर 900 चावल मिलोें के मालिकों को कारण बताओ नोटिस जारी किए जाएंगे। इनसे जवाब मांगा जाएगा कि धान कम क्यों मिला है और इसके कारण क्या हैं।

40 हजार टन धान कम मिलने की हुई थी पुष्टि 

विभागीय अधिकारियों के अनुसार पिछले दिनों विभाग की सैकड़ों टीमों ने प्रदेशभर के चावल मिलों में फिजिकल वेरीफिकेशन की थी, इसमें करीब 40 हजार टन धान कम मिलने की पुष्टि हुई थी। विभाग ने अपनी रिपोर्ट अब तैयार कर ली है और विभाग के अधिकारी हर जिले में इन चावल मिलों को नोटिस जारी करेंगे, जिनके यहां धान कम मिला है। चावल मिल मालिकों को बताना होगा कि उनके यहां धान कम क्यों मिला है और इसका क्या कारण रहा। 

आज कंप्लीट होगी रिपोर्ट

जिन चावल मिलों में धान कम मिला है, उनकी कंप्लीट रिपोर्ट खाद्य एवं अापूर्ति विभाग ने तैयार करा ली है। इसे विभाग के आला अधिकारियों को टीमें आज सौंप देंगी। अब तक की जानकारी के अनुसार करीब 40 हजार टन धान कम मिला है और जिलावार चावल मिलों की सूची तैयार की जा रही है। सभी चावल मिल मालिकों को एक साथ नोटिस जारी किए जाएंगे। इन नोटिसों का जवाब देना होगा।

10 दिन का दिया गया था समय

सभी चावल मिलों में फिजिकल वेरीफिकेशन से ठीक पहले सरकार ने चावल मिल मालिकों को 10 दिन का समय दिया था, ताकि वे अपने यहां धान का स्टॉक पूरा कर सकें। इस बीच भी कुछ ऐसे चावल मिल मिले हैं, जहां पर धान पूरा नहीं मिला है। ऐसे में चावल मिल मालिकों से जवाब मांगा जा रहा है। इस संदर्भ में चावल मिल मालिकों ने पहले ही सीएम व डिप्टी सीएम से मुलाकात भी की थी।

ये है मामला

धान सीजन के दौरान कई किसानों व विपक्षी नेताओं ने धान खरीद पर सवाल उठाए थे। आरोप थे कि किसानों का धान तो खरीदा नहीं गया, जबकि कागजों में धान पूरा खरीद लिया गया। अबकी बार करीब 65 लाख टन से अधिक धान की खरीद हुई थी। ऐसे में कई चावल मिलों पर आरोप लगे थे कि केवल कागजी कार्रवाई पूरी कर धान खरीद दिया गया गया है।

विपक्ष ने इस मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग तक की थी। लेकिन सरकार ने फिजिकल वेरीफिकेशन कराने को आदेश जारी किए थे। प्रदेशभर के करीब 1305 चावल मिलों में खाद्य एवं आपूर्ति विभाग की टीमों ने जांच की थी। इस जांच में 40 हजार टन से अधिक धान की कमी सामने आई थी।

 
Have something to say? Post your comment
More Chandigarh

प्रदेश में बिना रजिस्ट्रेशन डॉक्टर नहीं कर सकेंगे प्रैक्टिस : विज

बेल पर बाहर आए सजायाफ्ता कैदी ने होटल में किया गर्लफ्रेंड का कत्ल, फरार

पंजाबः फिर खुला जालंधर का चर्चित बिल्ला मर्डर केस, गवाह ने दायर की याचिका, बड़ा खुलासा

कश्मीर में 30 साल में सबसे कम सैलानी पहुंचे, हिमाचल में बुकिंग 40% तक बढ़ी

नए साल पर महंगाई का 'तोहफा', बिजली 30 पैसे यूनिट महंगी, अप्रैल में फिर रेट बढ़ने के आसार

शाहिद कपूर की फिल्म की शूटिंग थी शोरूम के अंदर, बाउंसरों ने इंटरनल रोड पर ही जाने से लोगों को रोका

दिल्ली से चंडीगढ़ आ रही कार देर रात फ्लाईओवर पर पलटी, 2 मरे और तीन गंभीर घायल

जंगलों में घूमने वाले तेंदुओं पर रेडियो कॉलर लगाएगा वन विभाग

अपराधियों के सामने लाचार नजर आ रही है पुलिस, पकड़े नहीं जा सके आरोपी

चंडीगढ़ में अगले 48 घंटे सर्दी से राहत के आसार नहीं, बूंदाबांदी हो सकती है, प्रदूषण भी चरम पर

Grievance Redressal Disclaimer Complaint
Pinaka Times
Email : editor@pinakatimes.com
Email : gropinakatimes@gmail.com
Copyright © 2016 Pinaka Times All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech