Latest :
सेक्टर-12 खेल परिसर में चल रहे तीन दिवसीय सांसद खेल महोत्सव में बास्केटबॉल गेम की हुई शुरुआतआजादी के अमृत महोत्सव की श्रृंखला में किया गया सांसद खेल महोत्सव का आयोजन बड़खल की विधायिका सीमा त्रिखा ने किया स्वच्छता अभियान का शुभारंभ मंडल स्तरीय कला एवं सांस्कृतिक प्रतियोगिता के आवेदन का 30 मई अंतिम दिन : डीसी जितेन्द्र यादव खेलो इंडिया मशाल 23 मई को पहुंचेगी फरीदाबाद, राहगीरी के जरिये होगा भव्य स्वागत 2 जोडी चांदी पाजेब सहित दो अलग-अलग चोरी के मामलों में दो आरोपियों गिरफ्तार, डॉग स्क्वायड टीम और डीएमआरसी टीम ने फरीदाबाद में सभी मेट्रो स्टेशन पर चलाया सर्च अभियानआजादी के गुमनाम नायकों को समर्पित रहा नाटक 'दास्तान- ए-रोहनात'थाना बीपीटीपी सेक्टर-75 एरिया में दिल्ली के मीठापुर की 27 वर्षीय युवती ने लगाई फ़ासीचोरी के मुक़दमे में वंचित चल रहे दो आरोपी सोने के रानी हार सहित गिरफ्तार
Sports

संन्यास के बाद इरफान पठान ने अपनी स्विंग और ग्रेग चैपल को लेकर कही ये बात

January 06, 2020 12:04 PM

Pinaka Times, Faridabad; 6Th January : पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज इरफान पठान ने रविवार को कहा कि उनका स्विंग पर हमेशा पूर्व की तरह अधिकार बना रहा और उनके प्रदर्शन में गिरावट के लिए तत्कालीन कोच ग्रेग चैपल को दोष देना चीजों को मुद्दों से भटकाना मात्र था। 35 साल पठान ने शनिवार को क्रिकेट के सभी प्रारुपों से संन्यास लेने का ऐलान करते हुए कहा था कि अधिकतर खिलाड़ी भारतीय टीम के साथ अपना करियर 27-28 साल में शुरू करते हैं लेकिन उन्होंने इस उम्र में अपना आखिरी मैच खेल लिया था। पठान तब 27 साल के थे जब उन्होंने 2012 में अपना आखिरी मैच खेला था। ऐसा भी समय था जबकि बायें हाथ के इस तेज गेंदबाज के सभी तीनों प्रारुप में खेलने को लेकर भी सवाल उठाए गए। 

इरफान पठान ने एक इंटरव्यू में कहा, ''इस तरह की सभी बातें लोगों का ग्रेग चैपल को लेकर बात करना, ये सब चीजों को मुद्दों से भटकाना मात्र था। इस तरह की बातें भी सामने आई कि इरफान दिलचस्पी नहीं दिखा रहा है। उन्होंने एक आभामंडल तैयार कर दिया कि इरफान का स्विंग पर पहले जैसा अधिकार नहीं रहा, लेकिन लोगों को यह समझने की जरूरत है कि पूरे मैच में आपको वैसी स्विंग नहीं मिलेगी जैसी पहले दस ओवरों में मिलती है। मैं अब भी गेंद को स्विंग कराने में सक्षम हूं।'

उन्होंने कहा, ''लोग मेरे प्रदर्शन को लेकर बात करते हैं, लेकिन मेरा काम भिन्न तरह का था। मुझे रनों पर अंकुश लगाने का काम सौंपा गया था क्योंकि मैं पहले बदलाव के रूप में आता था। मुझे याद है कि श्रीलंका में 2008 में मैच जीतने के बाद मुझे बाहर कर दिया गया था। देश के लिए मैच जीतने के बाद बिना किसी वजह के किसी बाहर किया जाता है?'

कई पूर्व खिलाड़ियों का मानना है कि पठान लंबी अवधि तक खेल सकता था लेकिन चोटों के कारण भी वह अपनी असली काबिलियत का खुलकर प्रदर्शन नहीं कर पाया। आईपीएल 2008 के बाद पठान के सभी तीनों प्रारुप में खेलने की इच्छा पर सवाल उठाए गए, लेकिन इस ऑलराउंडर ने कहा कि ऐसा कोई बात नहीं थी। 

उन्होंने कहा, ''हां मैं हमेशा तीनों प्रारूप में खेलना चाहता था। मैं 2009-10 में पीठ दर्द से परेशान रहा। मुझे सारे तरह के स्कैन कराने पड़े जो कि आपके शरीर के लिए सही नहीं होते लेकिन मैंने ऐसा इसलिए किया ताकि पता चल सके कि मेरे पीठ दर्द की वास्तविक वजह क्या है।'' पठान ने कहा, ''दुर्भाग्य से तब हमारे पास वैसी मशीनें नहीं थी जिससे स्पष्ट पता चल पाता कि मेरी पीठ दर्द का क्या कारण है। मैं दो साल तक पीठ दर्द से जूझता रहा और स्थिति बिगड़ती रही लेकिन मैंने रणजी ट्रॉफी में खेलना नहीं छोड़ा।''

पठान ने कहा कि तमाम चुनौतियों के बावजूद उन्होंने अपनी तरफ से पूरे प्रयास किए। उन्होंने कहा, ''उस दौर में मेरी गति कम हो गई थी क्योंकि मैं पूरी तरह से फिट नहीं था। मैं अपनी तरफ से हर संभव प्रयास कर रहा था क्योंकि मैं इस खेल को चाहता हूं। मैंने रणजी ट्रॉफी में बड़ौदा की अगुवाई भी की। मुझे ऐसा क्यों करना चाहिए था। मैं देश की तरफ से खेलना चाह रहा था और टेस्ट क्रिकेट में वापसी करना चाहता था।'' इरफान पठान ने अपने पूर्व कप्तान सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़ और अनिल कुंबले की भी तारीफ की।

 
Have something to say? Post your comment
More Sports

INDvsSL: नंबर 4 पर बल्लेबाजी करने को लेकर विराट कोहली ने कही ये बात

AUSvsNZ: मार्नस लाबुशेन ने जड़ा पहला दोहरा शतक, स्टीव स्मिथ को छोड़ा पीछे

तीन टेस्ट मैच खेल चुके नसीम शाह अंडर-19 वर्ल्ड कप नहीं खेलेंगे, उनकी जगह वसीम टीम में शामिल

AUS vs NZ: टिम पेन ने 'धोनी स्टाइल' में स्टम्पिंग कर हेनरी निकोल्स की बिखेरी गिल्लियां,

गांगुली का वन-डे सुपर सीरीज का आइडिया क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को आया पसंद

दानिश कनेरिया भी बोले, हिन्दू होने के चलते पाक टीम में सहना पड़ता था भेदभाव

मुंबई में होगी सौरभ और द्रविड़ की मुलाकात, इंजरी मैनेजमेंट पर हो सकती है बात

फेड कप के लिए 5 सदस्यीय टीम की घोषणा, सानिया की चार साल बाद वापसी

टीम इंडिया का रिपोर्ट कार्ड, जानें कैसा रहा 'विराट टीम' का साल

MS Dhoni 15 Years: 15 साल पहले डेब्यू मैच ही खत्म हो सकता था धोनी का करियर, हुई थी बड़ी गलती

Grievance Redressal Disclaimer Complaint
Pinaka Times
Email : editor@pinakatimes.com
Email : gropinakatimes@gmail.com
Copyright © 2016 Pinaka Times All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech